प्रचंड गाजलेले दहा देशभक्तीपर संवाद!

744

आज 71वा प्रजासत्ताक दिन. आजच्याच दिवशी हिंदुस्थानने लोकशाही राज्यव्यवस्थेचा अधिकृत स्वीकार केला. शेकडो वर्षांचा शौर्य, त्याग आणि समृद्धीचा इतिहास असलेल्या या देशाप्रति अभिमान बाळगण्याचा हा दिवस सर्वत्र उत्साहाने साजरा केला जातो. आजच्या दिवशी टीव्हीवर देशभक्तीपर चित्रपट लावले जातात. या देशभक्तीपर चित्रपटांमध्ये असे काही दमदार संवाद आहेत, जे ऐकताच रक्त सळसळतं. या निमित्ताने वाचुया कोणते आहेत ते संवाद-

1. हमारा हिंदुस्तान झिंदाबाद था, झिंदाबाद है, और झिंदाबाद रहेगा ! (गदर एक प्रेम कथा- सनी देओल)

2. चाहे हमें एक वक्त की रोटी ना मिले, बदन पे कपडे ना हो, सर पे छत ना हो … लेकिन जब देश की आन की बात आती है … तब हम जान की बाजी लगा देते हैं …(इंडियन- सनी देओल)

3. आओ झुक कर सलाम करें, उन्होंने जिनके हिस्से में ये मुकाम आया है … किस कदर खुश नसीब है वो लोग … खून जिनका वतन के काम आता है … (अब तुम्हारे हवाले वतन साथिओ… अक्षय कुमार)

4. ये मुसलमान का खून, ये हिंदू का खून.. अब बता कौनसा मुसलमान का…. कौनसा हिंदू का, बता! (क्रांतिवीर – नाना पाटेकर)

5. हम हाथ मिलाना भी जानते हैं, हाथ उखाडना भी … हम गांधी जी को पूजते हैं, चंद्र शेखर आजाद को भी … (इंडियन- सनी देओल)

6. हम तो किसी दूसरे की धरती पर नजर भी नहीं डालते … लेकिन इतने नालायक भी नहीं … कोई हमारी धरती मां पर नजर डालें और हम चुप-चाप देखते रहें। (बॉर्डर- सनी देओल)

7. मुझे स्टेट के नाम सुनाई नहीं देते और दिखाई भी नहीं देते … सिर्फ एक मुल्क का नाम सुनाई देता है इंडिया (चक दे इंडिया- शाहरुख खान)

8. हमारे इतिहास में ऐसे कई लोग हैं जिन्हें कोई इनाम, कोई मेडल नहीं मिला। हम उनका नाम तक नहीं जानते। ना ही उन्हें पहचानते हैं। सिर्फ वतन के झंडे पर अपनी याद छोड जाते हैं (आलिया भट्ट-राजी)

9. रीलिजन वाला जो कॉलम होता है, उसमें हम बोल्ड में इंडियन लिखते हैं। (हॉलीडे- अक्षय कुमार)

10. दूध मांगोगे तो खीर देंगे…कश्मीर मांगोगे तो चीर देंगे (मां तुझे सलाम- अरबाज़ ख़ान)

आपली प्रतिक्रिया द्या